यूपी मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2021: रजिस्ट्रेशन फॉर्म, पात्रता और लाभ

यूपी मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2021 PDF Form | Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana 2021 Online Registration Form pdf download Apply Online | UP Mukhyamantri Kisan Durghatna Kalyan Yojana Apply Online Application Form, Helpline Number | मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना ऑनलाइन आवेदन, पात्रता

उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्मंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना शुरू की है, जो खेतों में काम करने के दौरान मरने वाले या विकलांग होने वाले किसानों के परिवार को वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। यह योजना 18-70 वर्ष की आयु के किसानों और उनके परिवार के सदस्यों को कवर करेगी।  यूपी मुख्मंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना दिनांक 14 सितम्बर, 2019 से प्रभावी हो गयी है । यह योजना शत-प्रतिशत राज्य सरकार द्वारा वित्त पोषित योजना है, जो कि जिलाधिकारियो के माध्यम से संचालित की जाएगी। 

यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना 2021 के तहत रु 5 लाख का मुआवजा किसान की मृत्यु के मामले में उसके परिवार को मिलेगा। इसके अलावा 60 प्रतिशत से ज्यादा दिवांग्यता पर अधिकतम 2.50 लाख रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। नई सरकारी बीमा योजना से लगभग 2.38 करोड़ किसान परिवारों को लाभ होने वाला है। इस योजना में बाटीदार भी शामिल होंगे, जो अन्य व्यक्तियों के खेतों में काम करते हैं और फसल कटने के बाद फसल को साझा करते हैं। यूपी बजट 2020-21 में UP Mukhyamantri Kisan Durghatna Kalyan Yojana के लिए राज्य सरकार ने 500 करोड़ रुपये 18 फरवरी को रुपये आवंटित किया है। 

Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana 2021 Summary

योजना का नाम मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2021
श्रेणी उत्तर प्रदेश सरकार योजना
आरम्भ की गई मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी
लाभार्थी राज्य के किसान
लाभ 5 लाख रूपये तक का मुआवज़ा
बजट यूपी बजट 2020-21 में 500 करोड़ रुपये
उद्देश्य राज्य के किसानो को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना
आवेदन की प्रक्रिया ऑफलाइन
महत्वपूर्ण तिथि
आवेदन प्रारम्भ की तिथि 14 सितंबर 2019
आवेदन की अंतिम तिथि जारी है 
महत्वपूर्ण लिंक्स
अधिसूचना  यहाँ से डाउनलोड करे
आधिकारिक वेबसाइट www.upcmo.up.nic.in
हेल्पलाइन नंबर  

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2021 – लाभ (Benefits)

इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के किसानो को उपलब्ध कराया जायेगा। मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना बीमा के अंतर्गत दुर्घटनावश मृत्यु या दिव्यांगता पर पांच लाख रुपये तक दिए जाने का प्रावधान किया गया है। वारिस के तौर पर किसान के परिवार के अलावा बटाईदार भी बीमे हकदार होगा। पहले इस योजना का लाभ सिर्फ खातेदार किसान और सह-खातेदार को ही मिलता था। इस योजना के दायरे में प्रदेश के 2 करोड़ 38 लाख 22 हजार किसान आएंगे।

UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के दायरे में आने वाले दुर्घटना:

  • आग लगना, बाढ़, बिजली गिरना, करंट लगना
  • सांप काटना, जीव-जंतु व जानवर का काटना, मारना व आक्रमण
  • समुद्र, नदी, झील, तालाब, पोखर व कुएं में डूबना
  • आंधी-तूफान, वृक्ष से गिरने, दबने व मकान गिरने
  • रेल, सड़क, हवाई व अन्य वाहन से दुर्घटना
  • डकैती, दंगा, मारपीट, टकराव, आतंकवादी घटना व हत्या
  • भू-स्खलन, भूकंप, गैस रिसाव, विस्फोट, सीवर चैंबर में गिरना
  • किसी अन्य कारण से कृषक की अप्राकृतिक मृत्यु व दिव्यांगता पर किसान, उसके विधिक वारिस को आर्थिक सहायता दी जा सकेगी।

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2021 विभिन्न दुर्घटना में अंतर्गत मिलने वाली सहायता राशि:

दोनों हाथ अथवा दोनों पैर अथवा दोनों आंख की क्षति 100 प्रतिशत वित्तीय सहायता
एक हाथ तथा पैर की क्षति होने पर 100 प्रतिशत वित्तीय सहायता
एक आंख ,एक पैर अथवा एक पैर की क्षति होने पर 50 प्रतिशत वित्तीय सहायता
दुर्घटना में मृत्यु होने पर अथवा पूर्ण शारीरिक अक्षमता 100 प्रतिशत वित्तीय सहायता
स्थायी दिव्यांगता 50 प्रतिशत से अधिक लेकिन 100 प्रतिशत से कम 50 प्रतिशत वित्तीय सहायता
ऐसी स्थायी विकलांगता जो 25 % से अधिक है लेकिन 50 % से कम 25 प्रतिशत वित्तीय सहायता

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2021 – लाभार्थी/ पात्रता (Beneficiary)

  • उत्तर प्रदेश के स्थायी निवासी होना चाहिये 
  • आयु 18 से 70 वर्ष के बीच होनी चाहिये 
  • प्रदेश की खतौनी में दर्ज खातेदार /सह खातेदार जो दुर्घटना में मृत्यु अथवा विकलांगता के शिकार हो जाते है उनके माता पिता ,पति पत्नी ,पुत्र पुत्री , पुत्र वधु , पौत्र पोत्री, जिनकी आजीविका का प्रमुख साधन खातेदार /सह खातेदार की दर्ज कृषि भूमि से चलती है वह इस योजना के तहत पात्र होंगे ।
  • इसके अलावा ऐसे किसान जिनके पास स्वय की भूमि नहीं है तथा वह बटाई अथवा पटटे पर खेती करते है वह तथा उनके आश्रितों को भी कृषक दुर्घटना कल्याण योजना का लाभ दिया जायेगा ।

सभी किसान या उनके परिवार के सदस्य दिए गए समय सीमा के भीतर यूपी मुख्मंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं: –

  • आवेदन को 45 दिनों के भीतर प्रस्तुत करना होगा।
  • हालांकि, कलेक्टर 1 महीने या 30 दिनों का अतिरिक्त समय दे सकता है।
  • 75 दिनों के बाद जमा किए गए आवेदनों पर सहायता के लिए विचार नहीं किया जाएगा।
  • मेडिकल रिपोर्ट के साथ साथ दुर्घटना की पूरी जानकारी संक्षिप्त में देनी होगी। अगर किसान की मृत्यु हो जाती है तो मृत व्यक्ति का डेथ सर्टिफ़िकेट भी चाहिए होगा।

 

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2021 आवेदन प्रक्रिया (Apply Online)

यूपी सरकार योजना को सफलतापूर्वक लागू करने के लिए जल्द ही एक पोर्टल लॉन्च करेगा। इच्छुक लाभार्थी UP Mukhyamantri Kisan Durghatna Kalyan Yojana पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकेंगे। उन सभी किसानों या उनके परिवार के सदस्यों जिन्होंने ऑनलाइन आवेदन किया होगा  उसको तहसील कार्यालय का दौरा करने या कलेक्टर को आवेदन लिखने की आवश्यकता नहीं है। मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2021 को ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरीकों के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2020 क्या है?

उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्मंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना शुरू की है, जो खेतों में काम करने के दौरान मरने वाले या विकलांग होने वाले किसानों के परिवार को वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2020 कब प्रारंभ हुई है?

यह योजना दिनांक 14 सितम्बर, 2019 से यूपी के मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी द्वारा शुरू की गयी है।

किसानो को मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजनाके दवारा कितनी की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है?

किसान की मृत्यु के मामले में उसके परिवार को 5 लाख रूपए की आर्थिक सहायता मिलेगा। इसके अलावा 60 प्रतिशत से ज्यादा दिवांग्यता पर अधिकतम 2.50 लाख रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान कीजाती है।

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना किस राज्य द्वारा चलाई जा रही है?

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही है।

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना किस योजना का नया रूप है?

मुख्यमंत्री किसान एंव सर्जन हित बीमा

 

1 thought on “यूपी मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना 2021: रजिस्ट्रेशन फॉर्म, पात्रता और लाभ”

  1. किसान दुर्घटना में नाम जद एफआईआर दर्ज कराने के बाद लाभ मिलता है या नहीं

    Reply

Leave a Comment